बेटी

कोख से संसार तक बचे बेटी, ससम्मान जियें बेटी,

दुनिया में अहम भूमिका निभाने आई,

सभी को एक जुट कर, प्यार की परिभाषा बन कर आई!!

कोई कहे दुर्भाग्य , तो कोई कहे सौभाग्य..,

सोचने समझने का नज़रिया है, पता नहीं कौन सही और कौन अटखेड़ा है!!

फ़क्र होता है मुझे कि मैं एक बेटी हूँ ….,

दुनियादारी की समझ भले ही कम रखती हूँ पर माँ पापा को भाई से ज्यादा समझती हूँ!!

जीवन खुल के जीने की कला सभी में नहीं होती,

कुछ लोग तो सिर्फ अपना अस्तित्व जताने और दुसरों की कोख उजाड़ने के लिए होते है!!

माँ दुर्गा को पूजते हो, तो माँ लक्ष्मी को भी..

माँ सरस्वतीं को पूजते हो, फिर अपनी बेटी क्यों नही?!!

कम से कम खर्च उस पर, यह सोच कि दुसरे घर जाएगी..,

याद रखना, आखिर में वही तुम्हारें काम आएगी!!

सोचते हो हर बार तुम ही सही?!

दकियानूसी सोच के चलते, दुनिया में तुमसे मूर्ख और कोई नहीं!!

सामने वाले पर ऊँगली उठाने से पहले,

ज़रा अपने गिरेवान मे झाँककर देखो..,

जिस बेटी ने पापा बुलाया, उसे ही बीच सड़क अकेला छोड़ आया?!!

जब भी सोचो, अभिशाप है बेटी,

ज़रा एक बार अपनी माँ को देख लेना!!

नीरजा भी एक बेटी थी,कल्पना भी एक बेटी थी..

इंदिरा भी किसी की बेटी थी, मदर टेरेसा भी उनमें से एक ही थीं..

कोख से संसार तक बचें बेटी, ससम्मान जियें बेटी!!

Best Friend

I made a new Friend,

Just like all others…

I talked to her,

Same way I behaved with everyone there!!

But, then I started becoming Protective, getting jealous..

Every time she’s with someone else,

b’cuz I don’t wanna share her with anyone there!!

 

Soon, I started feeling,

Do I overreact when with her?!!

Might she be thinking I’m too weird !!

Started maintaining a distance,

Talked to her, only when required!!

 

She said Sorry, again and again and again…

Not knowing what the circumstances were and that I was Vain!!

I wanted to tell her that I do care..

Maybe, my mind underestimated and I couldn’t dare!!

 

Words became Shorter, Hugs were none……

I started feeling lonely,

 

With the company of many..

because she was quite busy!!

Cannot find words to explain her..

Why I did that to her….

But she might had perceived, that I wasn’t indulged in any Manoeuvre !!

At first, I just thought ,she’s be my Good Friend..,

But afterwards, I came to know, that she came in my life to be my Best Friend!!

 

 

अनोखा होना अनोखा है

एक लड़की थी..

सपना बनना उसे लीडर था;

कोई कुछ भी कहे फर्क न उसे पड़ता था!!

दुनियादारी की समझ थी न थी,

पर लोगो का विश्वास जीतना चुटकियों का खेल था!!

प्यार अपने वतन से, हर एक जीव सखा था…

कौन समझाए अब उसे, ना हर कोई अपना था!!

सभी को समझाना बाएँ हाथ का खेल था,

दुनिया में उससे ज्यादा कंफ्यूज शायद ही कोई था!!

हर किसी से प्यार से बात करना, मिलने पर गले लगाना

उसका सबसे प्यारा तरीका था…

काश, वो लड़का होती,

ये हर लड़की का सपना था…

जितनी प्यारी उसकी भूरी आँखें,

उतना खूब था उसका हृदय!

सोना भले ही प्यार का उसका..,

पर उससे खूब शायद ही कोई था!!

Dedicated to shruti…my bestie n sis💙

ज़िंदगी..

ज़िन्दगी की कश्मकश देखो..,

लोग भूल जाते है जीना!!

जिसके लिए जीते है;

वही रह जाता है अधूरा!!

ज़िन्दगी एक होड़ है..

शामिल होना जोर है!!

ज़िन्दगी ना मिलेगी दोबारा,

इसलिए चिंता न करना एक बारा…,

जब तक तुम सही, झुकने की ज़रूरत नही;

जिस दिन गलती कर दो, पश्चाताप से मुकरना नही!!

यहाँ लोग तुम्हारी अच्छाई नही, गलती का इंतज़ार करते है.,

निन्यान्वे सही, एक गलत.., सबसे पहले ऊँगली उठाते हैं।

यहाँ कोई अपना नहीँ, फिर भी सब अपने हैं!!

लोग अच्छाई का बुर्खा तो कई सदियों से पहने है…

थाम लो कदमों को, पर मर मर के जीना नहीं,

भीड़ से पीछे हटना, कभी बहुत अच्छा होता है,

एक बार रुक कर पीछे मुड़ना भी ज़रूरी होता है!!!

Copyrighted.com Registered & Protected NPNZ-N8FD-SBRS-JFWQ

Picture by me;)Copyrighted.com Registered & Protected CP63-YBXT-TFCY-OG8O

Kind from heart,True from soul…..

People called her a Cheater..,

She never responded..; smiled!!!

People talked behind her..,

She never complained; cheered!!

People used Slangs for her…,

She never cared enough..!!!!

Only one thing she had in Life

And learned from elders…..;

To be always positive..,

Kind from heart,love from soul,learn from life..!!!

And so the reason ,

Why people took advantage..,

Why they never turned to her..,

Why they never cared for her..,

Why they never understood..,

Why they never understood!!!

I was Younger(Poem)

When I was younger.., I wanted to a cinestar;

walk on ramp , and, roam in luxurious cars!!

some years later..,I aimed to be a doctor,

treat the patients and fly over a copter!!

Then I thought to be an air-hostess;

wear mini-skirts and travel all around the whole world!

Started loving social;

Being true patriot,wanna serve my country,

stop the corruption,& punish the traitors!!

I know it isn’t innate..,and not a bed of roses too!!

But if your motives are true..,there’s nothing to stop you!!

Copyrighted.com Registered & Protected TRRF-2JOI-NEFT-5IMN

 

बचपन….

मैं जीवन जीने के काबिल हूँ  या नहीं,

बस मुझे जीना सिखा दो!!

अगर लौट के आ सकता है मेरा बचपन,

तो लौटा दो उसे मुझे,बिना किसी अनबन!!

वरना इस दुनिया में ……….

न तो ज़मीर रहेगा जिंदा,

और,न ही कबीर करेगा बुराई की निंदा,

चाहे बन जाये कितना भी बड़ा गरीब(अमीर),

कभी दिल में फ़क़ीर न होगा जिंदा!!!!

जब लौट आएगा वापस हमारा बचपन…..

तो और भी खुबसूरत,

और      भी       ऊचाँ,

मेरे देश का नाम हो जायेगा ,

हिन्दू-मुसलमान नही,सिर्फ इंसान ही इंसान पुकारा जायेगा!!

चाहे कितनी बार ही क्यों न गिरो,हर बार एक नया मौका मिलता जायेगा,

ऐसा नही की गलती करने की आदत पड़ जाएगी,

पर गलती करके सही रास्तें की पहचान हो जाएगी!!!

रिश्ते भूल सिर्फ निंदा और लालच जानते है अभी सब,

जब लौट आएगा वापस हमारा बचपन,

तो मासूमियत के अलावा कुछ न रह जाएगा तब!!!

जिंदगी शतरंज के जैसी हो गयी है,इसे सूडोकु के समान बनाना चाहिए,

हर मौके पर फतह नहीं,सिर्फ सही रहना आना चाहिये!!

 

 

Copyrighted.com Registered & Protected YBLO-V3TI-ULSP-JLJL

भारत..

कोई कभी नाप नही सकता..कि मेरा भारत कितना महान है!!

देश की मिट्टी देख कर, बढता मेरा स्वाभिमान है…

झंडा उचां रहे हमारा, इस पर मेरा अभिमान है!!

क्योंकि माँ की गोद..पिता का सागर ..,

भारत वर्ष महान है!!

देश का गौरव बढाना,

हम सभी का काम है.,

क्योंकि इस मिट्टी का हम पर बहुत बड़ा उपकार है!!

चाहे जितनी दुनिया तुम घूम लो..,लौट के तुम्हे यहीं आना है,

यही चुकाना एहसान है!!!

Untitled..

Carve my life..,

But beware of rocks!!

Don’t stand me on heights ;

I’ve fear of falls!!

Don’t ask for my heart,

Am afraid of cheats!!

Promise not baffle..

By listening my fribble!!

Kowtow my thoughts..,

I’ll sure not blather;

Correct me on,

If you think I couldn’t tackle!!

Not a hard nut to crack.,

Not a cake walk too ;

Not a bitter medicine to swallow ,

Too , a great dignity to follow!!

“Follow your Brain cuz heart’s insane!!”

Acts like stupid , being too lame !!

 

She..(poem)

She wanna see everyone happy..

She was the one most betrayed!!

Wanna link everyone by a love cart,

Roam with broken pieces of her own big heart!!

She wanna see, everyone smile..

The most cried loud inside!!

She couldn’t tell it to the world..,

What always got her inside murdered!!

Self confidence was nill,

But not was her love or will..

Yeah, she was a girl with pure heart and soul,

Got attached to those, who cared even a little bit!!

Cheered with fun, filled with love..,

Cry for senseless, dared to be Rough??(no)

‘Real’ was she, unlike the world..,

Some called Different, some did Mad!!

Whatever she felt, was nothing but just a Prank!!!!

…………….*……………*………………*

‘Here the fear refers to the rejection and the fear to be rejected .., she either didn’t knew or wasn’t ready to accept it as a Part of Life!!!’

 



Copyrighted.com Registered & Protected TVKL-PPZE-D57T-IZXD

image Copyrighted.com Registered & Protected WBNE-AKJS-YKPK-RUQW